बहुत जल्द अब छत्तीसगढ़ी में भी पढ़ने को मिलेगी रामायण, बृजमोहन अग्रवाल की अहम् भूमिका

Chhattisgarhi Ramayan | Apna Chhattisgarh

धार्मिक आस्था में अटूट विश्वास रखने वाले एक बार फिर बृजमोहन अग्रवाल की अहम् भूमिका ।  लोगो को बहुत जल्द अब छत्तीसगढ़ी में भी पढ़ने को मिलेगी रामायण। क्योंकि कटघोरा के बीईओ जीएस राजपूत ने वाल्मीकि रामायण का छत्तीसगढ़ी में रूपांतरण कर लिया है। दो साल की कड़ी मेहनत से तैयार किया गया यह छत्तीसगढ़ी लोक रामायण 352 पृष्ठ का है। इसे राजभाषा आयोग ने प्रकाशित करने की स्वीकृति भी प्रदान कर दी है। इस संबंध में आयोग द्वारा एक पत्र भी राजपूत को भेजा गया है। आपको बता दें कि इस छत्तीसगढ़ी लोक रामायण में मूल ग्रंथ की किसी भी कथा या प्रसंग से कोई छेड़छाड़ नहीं किया गया है। कटघोरा के विकासखंड शिक्षा अधिकारी जीएस राजपूत मंत्री बृजमोहन अग्रवाल  के नेर्तत्व में,ने रामायण का छत्तीसगढ़ी में रूपांतरण करने का अपना यह प्रोजेक्ट दो साल पहले शुरू किया था। उन्होंने बताया कि शनिवार व रविवार समेत विभिन्न छुट्टियों के दिनों में वे 8 से 9 घंटे लिखते और अपने अभियान में जुटे रहते थे। इस दौरान उन्होंने लिखने में एक भी दिन का गैप नहीं किया। समय कम हो तो भले ही एक दो पंक्तियां लिखकर वे अपने अन्य कार्यों में जुट जाते, मगर वे प्रतिदिन लिखते रहे। सुबह 3 बजे उठकर लिखाई के इस काम में जुट जाते। इस छत्तीसगढ़ी लोक रामायण की रचना के लिए उन्होंने स्वयं लिखा और टाइपिंग करा किताब तैयार की।

यह बेहद प्रसन्नता  की बात है की श्री मंत्री बृजमोहन अग्रवाल  के नेर्तत्व में छत्तीसगढ़ बहुत तेज़ी से आगे बढ़ रहा है । धार्मिक आस्था में अटूट विश्वास रखने वाले  बृजमोहन अग्रवाल जी ने जाने कितनी बार ऐसे अच्छे काम किये हैं जो प्रशंसनीय हैं और छत्तीसगढ़ के चहेते नेता हैं बृजमोहन अग्रवाल जी , भगवान् उनको लम्बी आयु दे

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*