सीबीएसई ने की घोषणा परिवार में एक बच्ची रही तो नहीं लगेंगी स्कूल फीस

Apna Chhattisgarh

परिवार में एक बच्ची है तो उसकी शिक्षा निशुल्क और दो बच्चियां हैं तो उसमें से एक की शिक्षा नि:शुल्क और दूसरे की सिर्फ 50 फीसदी शुल्क ली जा सकेगी इसकी घोषणा सीबीएसई ने की है। लेकिन सरकार की इस महत्ती योजना को कुछ प्राइवेट स्कूल अपनाने से कतरा रहे हैं।इन स्कूलों में सीबीएसई कोर्स जरूर चल रहा है लेकिन सीबीएसई बोर्ड के इस नियम को पूरी तरह लागू नहीं कर रहे हैं। सिंगल गर्ल्स चाइल्ड योजना लागू होने के बाद भी प्राइवेट स्कूलों में इस योजना को लागू नहीं करने के संदर्भ में स्कूल संचालक बहानेबाजी कर रहे हैं।ऐसे हालत में सबसे ज्यादा परेशानी उन्हें हो रही है जिन्हें इन योजना का लाभ मिलना था। यदि अभिभावकों को सीबीएसई के इस योजना की जानकारी है भी तो स्कूल प्रबंधन के आगे वे अपने आपको बेबस महसूस कर रहे हैं। जिले में 7 सीबीएसई स्कूल संचालित है जिसमें लगभग पांच हजार बच्चे अध्ययनरत हैं। सीबीएसई ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान को और मजबूत करने के लिए बच्ची की शिक्षा को निःशुल्क और दो बच्ची होने पर एक की पढ़ाई में आधा शुल्क लेने का आदेश जारी किया है। सीबीएसई ने अपने विभागीय वेबसाइट में इस आदेश को अपलोड भी कर दिया है। इसके अलावा प्रदेश से जिले के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को भी सर्कुलर जारी किया जा रहा है। अब जिला शिक्षा अधिकारी सभी स्कूलों को इस आदेश को अनिवार्य रूप से लागू करने का अंतिम आदेश देंगे। यह व्यवस्था केन्द्रीय विद्यालय स्कूलों में भी लागू रहेगी। हालांकि स्कूल आने-जाने के लिए बस सुविधा व स्कूल के मेस की फीस ऐसे बच्चियों के पालकों को जमा करना होगा। इसके लिए निर्धारित नियमों के तहत जरूरी दस्तावेज देना अनिवार्य है। अगर किसी अभिभावक के एक बेटा और बेटी है तो उन्हें इस योजना का लाभ नहीं मिल पाएगा। ऐसे अभिभावकों को योजना से बाहर रखा गया है। निःशुल्क शिक्षा के नियम में एक बेटी या दो बेटी होना अनिवार्य है। योजना के तहत पात्र लोगों को इसका लाभ लेने के लिए निर्धारित मापदंडों के तहत प्रमाण पत्र के साथ आवेदन करना होगा।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*